सोमवार, 23 मार्च 2009

truth


Ham sab ko har bar apne man ka chaha nhi milta hai.................hamara jo man hai na..... ,usme bahut sare kone hote hai aur har kone ki ek alag ahmiyat hoti hai ,koi pyar ki jagah hoti hai to koi jagah nafrat ki ,koi kona dosti ka hota hai to koi kona sneh n lagaw ka n kisi kone mai kutch aisa bhi jise ham khud se bhi chipate hai...................hamara man sapne bunta rahta hai ................so jo mila hai usko sarv satya man kar aage chalo.....................

1 टिप्पणी:

  1. हा par बहोत दर्द होता है दोस्त ये दिल में जब कोई अपना रूठता है और जब कोई अपना छूटता है..कोई अपना जिसे रोज सामने देखो और उसे गले ना मिल सको..दर्द तो होता है ना..कैसे सब सिर्फ सर्व सत्य मन कर आगे चले..हम तो वही रुक गये है जहा दोस्त दूर हुवे थे,..जिन्दगी आगे ही नहीं बढती यार...

    उत्तर देंहटाएं