मंगलवार, 31 दिसंबर 2013

नववर्ष की पूर्व संध्या

दिसंबर तेरा जाना 
 जनवरी तेरा आना 
 कुछ नया नही  तो 
 फिर भी 
 हम इस तरह 
इसे मनाते हैं 
 जैसे दुखो  के
 लम्बे प्रवास  बाद 
 सुख लौट के आते हैं 
 भूल जाते हैं 
 इस उन्माद में 
 दुःख  सुख तो 
 हमारे ही कर्मो
 के उधार खाते हैं 

 हे इश्वर नववर्ष की पूर्व संध्या पर  आपसे यही कामना हैं कि  मानवता  संवेदनशीलता का ह्रास न हो  और कम से कम  हम इंसान अपने किसी अपने  की आँखों में आंसू  लाने  का कारण न बने ...बाकि सब कर्मो का लेखा जोखा .................. २०१४ का वर्ष आप सभी के लिय शुभ हो  




आपका सबका स्वागत हैं .इंसान तभी कुछ सीख पता हैं जब वोह अपनी गलतिया सुधारता हैं मेरे लिखने मे जहा भी आपको गलती देखाई दे . नि;संकोच आलोचना कीजिये .आपकी सराहना और आलोचना का खुले दिल से स्वागत ....शुभम अस्तु

2 टिप्‍पणियां:

  1. नया वर्ष २०१४ मंगलमय हो |सुख ,शांति ,स्वास्थ्यकर हो |कल्याणकारी हो |
    नई पोस्ट नया वर्ष !
    नई पोस्ट मिशन मून

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    --
    गये साल को है प्रणाम!
    है नये साल का अभिनन्दन।।
    लाया हूँ स्वागत करने को
    थाली में कुछ अक्षत-चन्दन।।
    है नये साल का अभिनन्दन।।...
    --
    नवल वर्ष 2014 की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं